Entertainment

यूपी में AAP सांसद पर राजद्रोह का केस, संजय सिंह बोले- हम देशद्रोही हैं तो जेल में डाल दिया जाए

नई दिल्‍ली/ लखनऊ: आम आदमी पार्टी के राज्य सभा सदस्य और पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रभारी संजय सिंह के खिलाफ लखनऊ पुलिस ने हजरतगंज पुलिस थाने में दर्ज मामले में राजद्रोह की धारा जोड़ी है. वहीं, राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने शुक्रवार को उच्च सदन में कहा कि उन पर देशद्रोह का मुकदमा दायर कर दिया गया है. सिंह ने उच्च सदन में कहा, ”…हो सकता है कि चार दिन बाद मैं जेल में दिखूं. देशद्रोह का मुकदमा दायर कर दिया गया है.” Also Read – VIDEO: कई दलों के सांसदों ने राज्‍यों को GST के भुगतान के लिए गांधी प्रतिमा के सामने किया प्रदर्शन

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सिंह के खिलाफ दो सितंबर को एक सर्वेक्षण कराए जाने के मामले में आईपीसी की धारा 501 ए तथा 120 बी के अलावा आईटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराया गया था. Also Read – दिल्ली में कहां जाएंगे 48 हजार झुग्गी वाले? सियासत के बीच क्‍या है आप, बीजेपी और कांग्रेस का रुख?

राज्‍यसभा में आप सांसद सिंह ने कहा, ”क्या इस सदन में बैठने वाला सदस्य देशद्रोही है, मैं इस सरकार से पूछना चाहता हूं?” उन्होंने कहा, ” अगर हम देशद्रोही हैं तो जेल में डाल दिया जाए.” Also Read – Ex MP अतीक अहमद ने 18 करोड़ की Govt Land पर कराया था कंस्‍ट्रक्‍शन, प्रशासन ने बुलडोजर से ढहाया

पुलिस अधिकारी ने बताया कि सिंह को लखनऊ पुलिस ने गुरुवार को एक नोटिस भेजी है, जिसमें अन्य धाराओं के अलावा राजद्रोह की धारा 124 ए को भी शामिल किया गया है. यह नोटिस संजय सिंह के दिल्ली वाले आवास के नार्थ एवेन्यू के पते पर भेजी गई है.

हजरतगंज पुलिस थाने के जांच अधिकारी ए के सिंह की ओर से संजय सिंह को भेजी गई नोटिस में कहा गया है, ‘आपके विरुद्ध मुकदमा अपराध संख्या 242/2020 आईपीसीकी धारा 153 ए/153 बी/,505 :1::बी:/505:2:/468/469/124 ए/120 बी व 66 सी/66 डी आईटी अधिनियम के तहत पुलिस थाना हजरंतगंज लखनऊ के संबंध में जांच विवेचना की जा रही है, जो संज्ञेय एवं गैर जमानती अपराध है, जिसके संबंध में अपने पक्ष में तथ्यों/ अभिलेखीय साक्ष्य प्रस्तुत करने हेतु मेरे समक्ष 20 सितंबर को सुबह 11 बजे उपस्थित होना सुनिश्चित करें.

नोटिस में कहा गया है, ”यदि आप नियत तिथि/समय पर उपस्थित नही होते है तो आपके विरुद्ध दंडनीय कार्यवाही की जाएगी.’ पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि संजय सिंह के अलावा एक निजी कंपनी के तीन निदेशकों के खिलाफ भी राजद्रोह और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है.

सिंह द्वारा जारी किए गये इस सर्वेक्षण में कहा गया था कि योगी आदित्यनाथ सरकार एक विशेष जाति के लिये कार्य कर रही है. इस सर्वेक्षण के बाद संजय सिंह के खिलाफ प्रदेश के विभिन्न जिलों में कम से कम 13 मामले दर्ज कराए गए थे.

About the author

Kim Diaz

Kim recently joined the team, and she writes for the Headline column of the website. She has done major in English, and a having a diploma in Journalism.

Add Comment

Click here to post a comment